गुरुवार, 1 मार्च 2012

उठा ली है शमशीर

उठा ली है शमशीर
- Kaushalya

आँटी घूटी जीवन के रास्तो की,
जो मझिलों में बाधा डाले 
आ जाती है बिन बुलाई,
ध्येय से अपने विचलित करने,
ऐसी आनेवाली संभावनाओं को
अब परास्त करने हेतु
भर ली है गहरी साँस 
और उठा ली शमशीर 
 **
शब्दार्थ :
आँटी-घूटी = विपत्तियाँ, मुश्किल स्थिति, उलझने
बाधा = रूकावट
विचलित करना = गुमराह करना 
परास्त = असफल  करना 
शमशीर = तलवार 

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें